सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

हमारे देश के प्रधानमंत्रीयों मेें से एक नाम श्री चौधरी चरण सिंह का आता है जिन्‍होने हमारे देश भारत के पॉचवें प्रधानमंत्री के रूप में शपथग्रहण की आइये जानते है श्री चौधरी चरण सिंह जी के बारे मेें महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important Information About Chaudhary Charan Singh Ji

चौधरी चरण सिंह जी के बारे मेें महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important information about Chaudhary Charan Singh Ji

  1. चौधरी चरण सिंह जी का जन्म 23 दिसम्बर वर्ष 1902 में उत्‍तर प्रदेश के मेरठ शहर के नूरपुर नामक ग्राम में एक जाट कृषक परिवार में हुुुुआ था
  2. इनके पूर्वज महाराजा नाहर सिंह ने वर्ष 1857 की प्रथम क्रान्ति में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया महाराजा नाहर सिंह बल्‍लभगढ के निवासी थे इन्‍हे ब्रिटिस सरकार ने चॉदनी चौक दिल्‍ली में फॉसी पर चढा दिया था 
  3. चौघरी चरण सिंह ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा नूरपुर ग्राम तथा मेट्रिकुलेशन शिक्षा मेरठ से प्राप्‍त की इसके बाद विज्ञान विषय मेें स्‍नातक तथा कला में स्‍नाकोत्‍तर की उपाधी प्राप्‍त कर इन्‍होने गाजियावाद में वकालत करना प्रारम्‍भ कर दिया
  4. चौधरी चरण सिंह ने वर्ष 1929 में मेरठ आने के बाद गायत्री नामक कन्‍या से विवाह कर लिया कुछ समय बाद चौधरी चरण सिंह कांग्रेेेस पार्टी में शामिल हो गये वर्ष 1937 में छत्रवाली विधान सभा क्षेत्र से निर्वाचित भी हुुुए
  5. क्षत्रवाली विध्‍ाान सीट पर इन्‍होने 9 वर्ष तक कार्यभाल सम्‍भाला आजादी के बाद ये तीन बार वर्ष 1952, 1962 तथा 1967 में विध्‍ाान सभा के लिए चुने गये इसके फलस्‍वरूप इन्‍हे राजस्‍व, न्‍याय, सूचना, चिकित्‍सा आदि जैसे विभागों का भी दायित्‍व दिया गया
  6. चौधरी चरण सिंह वर्ष 1966 में कांग्रेस के विघटन के बाद कांग्रेस के समर्थन मेें उत्‍तर प्रदेश के मुुख्‍यमंत्री चुने गये लेकिन अधिक समय तक मुख्‍यमंत्री नही रहे 
  7. चौधरी चरण सिंह 28 जुलाई, वर्ष 1979 को समाजवादी पार्टियों तथा कांग्रेस के सहयोग से प्रधानमंत्री बनने में सफल हुए। वह 14 जनवरी, वर्ष 1980 तक ही भारत के प्रधानमंत्री रहे। इस प्रकार उनका कार्यकाल लगभग नौ माह का रहा।
  8. चौधरी चरण सिंह एक ऐसे देहाती पुरुष थे जोकि सादा जीवन और उच्च विचार में विश्वास रखते थे। इस कारण इनका पहनावा एक किसान की तरह ही था। जिसके कारण इन्‍हे किसान नेता भी कहा जाता है
  9. चौधरी चरण सिंह एक कुशल लेखक भी रखते थे। उनकी अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड थी उन्होंने 'अबॉलिशन ऑफ़ ज़मींदारी', 'लिजेण्ड प्रोपराइटरशिप' और 'इंडियास पॉवर्टी एण्ड इट्स सोल्यूशंस' नामक पुस्तक भी लिखी
  10. चौधरी चरण सिंह की मृत्‍यु 29 मई, वर्ष 1987 को हुुुुयी वह 84 वर्ष से अधिक की उम्र के थे इतिहास में इनका नाम प्रधानमंत्री से ज़्यादा एक किसान नेता के रूप में जाना जाएगा।
Tag - चौधरी चरण सिंह जी के बारे मेें महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important Information About Chaudhary Charan Singh Ji, Biography Of chaudhary Charan Singh in hindi, Important Information About Chaudhary Charan Singh Ji in hindi, chaudhary charan singh in hindi, some important topic about chuadhary charan singh in hindi 


Post a Comment