सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

विश्‍व भर मेें रक्‍त की समस्‍या एक ऐसी समस्‍या है जिसके चलते ना जाने कितने ही व्‍यक्ति प्रतिवर्ष अपना जीवन खो देते है क्‍योंकि उन्‍हे समय पर रक्‍त नहीं मिल पाता है इस रक्‍त की कमी को देखते हुुुए ही विश्‍व रक्‍तदाता दिवस मनाने का निश्‍चय किया गया जिससे प्रत्‍येक व्‍यक्ति की जिन्‍दगी बचायी जा सके आइये जानते है विश्‍व रक्‍तदाता दिवस - World Blood Donor Day के बारे मेें -


विश्‍व रक्‍तदाता दिवस - World Blood Donor Day

विश्व रक्तदान दिवस (World Blood Donor Day) प्रतिवर्ष 14 जून को मनाया जाता है विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 14 जून को विश्‍व रक्तदान दिवस के रूप में मनाने के लिए घोषित किया गया है। विश्व रक्तदान दिवस को सर्वप्रथम वर्ष 1997 में रक्त की आपूर्ति को पूर्ति करने के उददेश्‍य से मनाया जाता है तथा प्रत्‍येक व्‍यक्ति को इसके बारे में जागरूकता करने तथा प्रत्‍येक व्‍यक्ति को रक्तदान करके दूसरों के जीवन की रक्षा करने के लिए प्रोत्साहित करता है ।
विश्‍व रक्‍तदाता दिवस को मनाने के लिए वर्ष 1997 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 100 फीसदी स्वैच्छिक रक्तदान नीति की नींव डाली तथा वर्ष 1997 में ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह लक्ष्य रखा था कि विश्व के प्रमुख 124 देश अपने यहाँ स्वैच्छिक रक्तदान को ही बढ़ावा दें। लेकिन अब तक लगभग 49 देशों ने ही इस पर अमल किया है।
विश्व रक्तदान दिवस (World Blood Donor Day) को संसार के सभी देश “एबीओ रक्त समूह” (A, B, O, Blood Group) की खोज करने वाले, नोबेल पुरस्कार विजेता, कार्ल लैंडस्टीनर को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है
विश्व रक्तदान दिवस को मनाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 14 जून को ही क्यों चुना ! क्‍योंकि कार्ल लेण्डस्टाइनर (जन्म- 14 जून 1868 - मृत्यु- 26 जून 1943) नामक अपने समय के विख्यात ऑस्ट्रियाई जीवविज्ञानी और भौतिकीविद की याद में तथा उनके जन्मदिन के अवसर पर इस दिन को तय किया गया है। 

Tag - विश्‍व रक्‍तदाता दिवस - World Blood Donor Day, World Blood Donor Day 2017 - World Health Organization, World Blood Donor Day, 14 June 2017, world blood donor day 2017, world blood donor day 2017 theme, World Blood Donor Day in india, World Blood Donor Day in hindi


Post a Comment