सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

भारत में ही नही बल्कि विश्व में भी तम्बाकू से सम्बंधित सभी नशीले पदार्थो की वजह से ना जाने कितने ही लोगों की जिंदगी खराब हो गयी तम्‍बाकू के खिलाफ जन - जन को प्रेरित करने के लिए प्रतिवर्ष तम्‍बाकू रोधी दिवस ( International Tobacco Prohibition Day) मनाया जाता है आइये जानते है विश्‍व तम्‍बाकूरोधी दिवस के बारे में -

अंतर्राष्ट्रीय तम्‍बाकू विरोधी दिवस - International Tobacco Prohibition Day

सर्वप्रथम विश्व धूम्रपान निषेध दिवस अथवा अंतर्राष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस ( International Tobacco Prohibition Day) को साल 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के  द्वारा 7 अप्रैल 1988 से मनाने का फ़ैसला किया था। लेकिन इसके बाद हर साल की 31 मई को तम्बाकू निषेध दिवस मनाने का फ़ैसला किया गया और तभी से 31 मई को तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जाने लगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सदस्य देशों ने 31 मई का दिन निर्धारित करके धूम्रपान के सेवन से होने वाली हानियों और ख़तरों से विश्व के जन - जन को अवगत कराने फैसला किया तथा इसके उत्पाद एवं इस्तेमाल को कम करने की कार्यवाही करने का प्रयास किया । इसीलिए वर्ष 2012 में पूरी दुनिया में धूम्रपान के उत्पाद एवं उसके वितरण को स्पष्ट भूमिका के दृष्टिकोण से 31 मई को  "सावधान! हम बहुराष्ट्रीय धूम्रपान उद्योगों को बंद कर देंगे" नारा दिया गया।

मनाने का उद्देश्य - Purpose of Celebrating

अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस ( International Tobacco Prohibition Day) को मनाने का सबसे बडा उद्देश्य यह है कि जो भी व्यक्ति इस तम्बाकू जैसी नशीली आदत का शिकार हो गया है उसे इससे मुक्त कराना तथा सभी मनुष्यों को इसके प्रति सचेत करना और इसके साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध सप्ताह में, जो 25 मई से आरंभ होता है इस सप्ताह में , धूम्रपान उद्योग, स्वास्थ्य के लक्ष्यों को व्यवहारिक होने की दिशा में रुकावट, धूम्रपान उद्योग के मुक़ाबले में धार्मिक मान्यताएं, धूम्रपान को रोकना सबकी ज़िम्मेदारी, धूम्रपान के विस्तार के मुक़ाबले में विधि पालिका, न्याय पालिका और कार्यपालिका की ज़िम्मेदारी और अंततः धूम्रपान की अंतर्राष्ट्रीय कम्पनियों को बंद किया जाये जैसे विषयों की समीक्षा करना है ताकि इस मार्ग से धूम्रपान के सेवन में कमी आये और आम जनता के स्वास्थ्य में वृद्धि की जा सके।
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक तम्बाकू या सिगरेट का सेवन करने वालों को मुंह के कैंसर की आशंका 50 गुना ज़्यादा होती है क्योकि तम्बाकू में 25 ऐसे तत्व होते हैं जो कैंसर का कारण बन सकते हैं

Tag - अंतर्राष्ट्रीय तम्‍बाकू विरोधी दिवस - International Tobacco Prohibition Day, World No Tobacco Day, World No Tobacco Day, 31 May 2017, World No Tobacco Day in india, World No Tobacco Day in hindi


Post a Comment