सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

दिल्‍ली (Delhi) भारत का एक केंद्र-शासित प्रदेश और महानगर है। दिल्‍ली (Delhi) प्रदेश की राजधानी नई दिल्‍ली (New Delhi) है, लेकिन हमेशा से दिल्‍ली (Delhi) भारत की राजधानी नहीं थी, दिल्‍ली का इतिहास बहुत पुराना है, आईये जानते हैं - भारत की राजधानी दिल्‍ली का इतिहास - Bharat Ki Rajdhani Delhi Ka Itihas - 

भारत की राजधानी दिल्‍ली का इतिहास - Bharat Ki Rajdhani Delhi Ka Itihas

  • महाभारत काल मेें यानि 1450 ईसा पूर्व दिल्‍ली का नाम इंद्रप्रस्थ (Indraprastha) था, यह पांडवों की राजधानी थी। 
  • 1679 से 1857 तक मुगल साम्राज्य की राजधानी रही। दिल्‍ली के लाल किले का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहॉ ने बनवाया था, मुगल शासक बहादुर शाह जफर लाल किले पर राज करने वाला अंतिम मुगल शासक था
  • इसके बाद १८वीं एवं १९वीं शताब्दी में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने लगभग पूरे भारत को अपने कब्जे में ले लिया और भारत की राजधानी कोलकाता को बनाया गया
  • लेकिन 12 दिसंबर 1911 को ब्रिटेन के किंग जॉर्ज पंचम ने दिल्ली दरबार में दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने की घोषणा की 
  • ब्रिटिश आर्किटेक्ट सर हरबर्ट बेकर और सर एडविन लुटियंस ने दिल्‍ली में भवनों का निर्माण किया, जिसमें संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, साउथ ब्लॉक और नॉर्थ ब्लॉक
  • इस प्रकार पुरानी दिल्‍ली में एक नया नगर नई दिल्ली बसाया गया, यह लगभग 20 वर्ष में तैयार हुआ ब्रिटिश भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड इर्विन द्वारा 13 फ़रवरी 1931 को नई दिल्ली का उद्घाटन किया
  • आज दिल्‍ली दिल्‍ली उत्‍तर भारत का सबसे बडा व्‍यावसायिक केंद्र है
Tag - Brief Information of Delhi in Hindi, historical background of delhi, essay on delhi in hindi, history of red fort delhi in hindi language, history of delhi sultanate in hindi


Post a Comment