सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

प्रत्‍येक वर्ष 30 मार्च को राजस्थान स्थापना दिवस (Rajasthan Sthapna Diwas) या राजस्‍थान दिवस मनाया जाता है, राजस्थान क्षेत्रफल (342239 वर्ग किलोमीटर) के आधार पर भारत का सबसे बड़ा राज्य है। आईये जानते हैं 30 मार्च यानि राजस्थान स्थापना दिवस (Rajasthan Diwas) के बारे में कुछ महत्‍वपूर्ण तथ्‍य -

30 मार्च - राजस्थान स्थापना दिवस - 30 March - Rajasthan Sthapna Diwas

30 मार्च - राजस्थान स्थापना दिवस - 30 March - Rajasthan Sthapna Diwas in Hindi



राजस्थान की स्थापना कुल सात चरणों मेंं हुई जिसमें 30 मार्च, 1949 में जोधपुर, जयपुर, जैसलमेर और बीकानेर रियासतों का विलय होकर 'वृहत्तर राजस्थान संघ' बना था। यही राजस्थान की स्थापना का दिन माना जाता है।
  • 18 मार्च, 1948 को अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली रियासतों का विलय होकर 'मत्स्य संघ' बना। धौलपुर के तत्कालीन महाराजा उदयसिंह राजप्रमुख व अलवर राजधानी बनी।
  • 25 मार्च, 1948 को कोटा, बूंदी, झालावाड़, टोंक, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, किशनगढ़ व शाहपुरा का विलय होकर राजस्थान संघ बना।
  • 18 अप्रॅल, 1948 को उदयपुर रियासत का विलय। नया नाम 'संयुक्त राजस्थान संघ' रखा गया। उदयपुर के तत्कालीन महाराणा भूपाल सिंह राजप्रमुख बने।
  • 30 मार्च, 1949 में जोधपुर, जयपुर, जैसलमेर और बीकानेर रियासतों का विलय होकर 'वृहत्तर राजस्थान संघ' बना था। यही राजस्थान की स्थापना का दिन माना जाता है।
  • 15 अप्रॅल, 1949 को 'मत्स्य संघ' का वृहत्तर राजस्थान संघ में विलय हो गया।
  • 26 जनवरी, 1950 को सिरोही रियासत को भी वृहत्तर राजस्थान संघ में मिलाया गया।
  • 1 नवंबर, 1956 को आबू, देलवाड़ा तहसील का भी राजस्थान में विलय हुआ, मध्य प्रदेश में शामिल सुनेल टप्पा का भी विलय हुआ।

कार्यक्रम एवं आयोजन

30 मार्च राजस्थान राज्य के स्थापना दिवस के अवसर पर जयपुर स्थित जनपथ पर राजस्थान दिवस समारोह के तहत कई तरह के रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।


Post a Comment