सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

रवीन्द्र नाथ टैगोर के 150वें जन्मदिवस के अवसर पर वर्ष 2011 में भारत सरकार द्वारा इस पुरस्कार की घोषणा की गई तो आइए जानते हैं रविंद्र नाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य ( Rabindranath Tagore International Award)

Rabindranath Tagore International Award, रवीन्द्रनाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

रविंद्र नाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य ( Rabindranath Tagore International Award)


भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह रविंद्र नाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार शुरू करने की घोषणा की थी रवीन्द्रनाथ टैगोर (1861-1941) बंगाली कवि, दार्शनिक, कलाकार, नाटककार, संगीत रचनाकार और उपन्यासकार थे. वह भारत के पहले नोबेल पुरस्कार विजेता हैं. उन्हें 1913 में साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया

रविंद्र नाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार के लिये भारत के प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली एक ज्यूरी हर साल दुनिया भर से किसी ऐसे व्यक्ति को चुनेगी जो टैगोर के वैश्विक मूल्यों को अपने काम में कर रहे हैं, अंतर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार की भांति रविंद्र नाथ टैगोर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की भी धनराशि 1 करोड रुपए रखी गई है

पहला टैगोर पुरस्कार वर्ष 2012 में पंडित रविशंकर को दिया गया था यह पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा प्रदान किया गया लेकिन रविशंकर द्वारा यह पुरस्कार प्राप्त करने से पहले उनकी मृत्यु हो गई यह पुरस्कार उनकी पत्नी सुकन्या शंकर द्वारा प्राप्त किया गया उसके बाद वर्ष 2013 में जुबिन मेहता ने सांस्कृतिक सद्भाव की में उत्कृष्ट योगदान के लिए टैगोर पुरस्कार प्राप्त किया


Post a Comment