सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

मैन बुकर पुरस्कार (Man Booker Prize) का पूरा नाम मैन बुकर पुरस्कार फ़ॉर फ़िक्शन (Man Booker Prize for Fiction) इसे शार्ट में बुकर पुरस्कार (Booker Prize) के नाम से भी जाना जाता है आईयें जानते हैं मैन बुकर पुरस्कार के बारे महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important information about Man Booker Prize in Hindi

मैन बुकर पुरस्कार (Man Booker Prize) मैन बुकर पुरस्कार फ़ॉर फ़िक्शन (Man Booker Prize for Fiction) बुकर पुरस्कार (Booker Prize)

मैन बुकर पुरस्कार के बारे महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important information about Man Booker Prize in Hindi

बुकर पुरस्कार राष्ट्रमंडल देशों या आयरलैंड के नागरिकों द्वारा लिखे गए उपन्यास को ही दिया जाता है यह मौलिक अंग्रेजी उपन्यास के लिए ही दिया जाता है, इंगलैंड की बुकर मैकोनल कंपनी द्वारा बुकर पुरस्कार की स्थापना सन 1969 में इंग्लैंड में की गई थी बुकर पुरस्कार में लगभग 60000 पाउंड की राशि विजेता लेखक को दी जाती है इस पुरस्कार के लिए सबसे पहले उपन्यासों की एक लंबी सूची तैयार की जाती है फिर पुरस्कार वाले दिन एक भोज आयोजित किया जाता है जिसमें पुरस्कार विजेता की घोषणा की जाती है, बुकर पुरस्कार को साहित्य के क्षेत्र में ऑस्कर पुरस्कार माना जाता है 
  1. पहला बुकर पुरस्‍कार किये दिया गया था ?
    • पहला पुरस्कार अल्बानिया के उपन्यासकार इस्माइल कादरी को दिया गया था
  2. बुकर पुरस्‍कार कहां आयोजित किये जाते हैं ? 
    • बुकर पुरस्‍कार गिल्डहॉल, लंदन, इंगलैंड में आयोजित किये जाते हैं     

भारतीय मैन बुकर पुरस्कार विजेताओं की सूची

  1. वी. एस. नायपॉल 1971 में "इन अ फ्री स्टेट" के लिए बुकर पुरस्कार प्राप्त किया। भारत के नहीं हैं परंतु मूल रूप से वे भारतीय ही हैं और यही उन्हें इस सूची में शामिल होने योग्य बनाता है।
  2. सलमान रश्दी विवादास्पद जादुई यथार्थवादी सलमान रश्दी ने न केवल चार बार बुकर के लिए चुने गए हैं बल्कि उन्होंने "बुकर ऑफ बुकर्स" और "द बेस्ट ऑफ द बुकर" भी जीता है! वह उपन्यास 1981 में जिसके लिए उन्हें उनका पहला बुकर पुरस्कार मिला वह " मिड नाईट चिल्ड्रन" था।
  3. अरुंधती रॉय ने अपने पहले उपन्यास "द गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स" के लिए 1997 में बुकर्स पुरस्कार जीता। उन्हें बुकर के अलावा अन्य कई पुरस्कार भी मिले हैं जिसमें 2006 में मिला हुआ साहित्य अकादमी पुरस्कार सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। 
  4. किरण देसाई अनीता देसाई की बेटी किरण देसाई ने अपने दूसरे और अंतिम उपन्यास "द इन्हेरिटेंस ऑफ लॉस" के लिए 2006 में बुकर्स पुरस्कार जीता। उनकी पहली पुस्तक "हुल्लाबलू इन द ग्वावा ऑर्चर्ड" की आलोचना सलमान रश्दी जैसे लेखकों द्वारा की गई। 
  5. अरविंद अड़ीगा वर्ष 2008 चेन्नई के रहने वाले अरविंद अड़ीगा को उनके पहले उपन्यास "द व्हाईट टाइगर" के लिए मिला था। इस उपन्यास में भूमंडलीकृत विश्व में भारत के वर्ग संघर्ष को विनोदी रूप से व्यक्त किया गया था। इस उपन्यास ने अड़ीगा को बुकर पुरस्कार प्राप्त करने वाला दूसरा सबसे छोटा लेखक बनाया। वे चौथे ऐसे लेखक थे जिन्हें अपने पहले उपन्यास के लिए ही बुकर पुरस्कार मिला 


Post a Comment