सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

वायु परिवहन (Air transport) परिवहन की दृष्टि से सबसे तेज और सुरक्षित साधन माना जाता है भारत और पूरे विश्व में वायु परिवहन (Air transport) बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है और अगर देखा जाए तो विश्व में भी भारत वायु परिवहन की वजह से केंद्रीय स्थान रखता है तो आइए जानते हैं भारत के वायु परिवहन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

Transport in India, What are the Important Characteristics of Air Transport in India, Short essay on Air Transportation system, Airways In India, advantages and disadvantages of air transport in india

भारत में वायु परिवहन महत्‍वपूर्ण तथ्‍य - Important Facts About Air transport in India 

भारत में वायु परिवहन का शुभारंभ 1911 में ही हो गया था चाहे यह डाक सेवा के रूप में ही हुआ हो यहां पहली डाक सेवा जिसे विश्व की प्रथम हवाई डाक सेवा भी कहा जाता है इलाहाबाद से नैनी के बीच हुई थी भारत की भारतीय राज्य वायुसेवा ने सन 1912 में यूनाइटेड किंगडम स्थित इंपीरियल वायु सेवा के साथ मिलकर कराची दिल्ली और लंदन के साथ विमान सेवा शुरू की जो भारत की पहली अंतर्राष्ट्रीय उड़ान सेवा थी 


टाटा संस लिमिटेड ने 1932 में अपनी एक विमान सेवा शुरू की जिसका नाम टाटा एयरलाइंस रखा टाटा एयरलाइंस ने शुरुआत में कराची अहमदाबाद-मुंबई बिलारी के बीच विमान सेवा शुरू की आजादी से पहले सन 1935 में इंडियन नेशनल एयरवेज कंपनी की स्थापना हुई जिसने लाहौर से कराची के बीच विमान का संचालन किया इसके बाद 1935 में टाटा एयरवेज द्वारा मुंबई से तिरुवंतपुरम के बीच विमान का संचालन किया गया और 1935 में टाटा एयरवेज द्वारा ही मुंबई से दिल्ली मार्ग पर भी विमान सेवा दी गई 1946 में टाटा एयरलाइंस का नाम बदलकर एयर इण्डिया कर दिया गया। भारत को आजाद होने तक भारत में कुल 21 एयरवेज कंपनियां स्थापित हो चुकी थी

भारत की स्वतंत्रता के बाद

भारत आजाद होने के बाद सन 1948 में एयर इंडिया इंटरनेशनल को अंतर्राष्ट्रीय सेवाओं के संचालन के लिए एयर इंडिया और भारत सरकार के मध्य समझौते पर हस्ताक्षर किए गए और सन 1948 में एयर इंडिया ने मुंबई और लंदन के मध्य एक उड़ान भरी और अपनी अंतर राष्ट्रीय सेवा का उद्घाटन किया मार्च 1953 में संसद में एक अधिनियम पारित किया गया जिसमें वायु परिवहन का राष्ट्रीयकरण किया गया जिसमें दो निगम बनाए गए पहला निगम बनाया गया एयर इंडिया और दूसरा निगम बनाया गया इंडियन एयरलाइंस इन दोनों के अपने अलग-अलग काम थे एयर इंडिया का काम लंबी दूरी के अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर वायु सेवा प्रदान करना था जबकि इंडियन एयरलाइंस का काम देश के भीतर वायु सेवा प्रदान करने का था लेकिन सन 2010 में एयर इंडिया और इंडियन एयरलाइंस का विलय कर दिया गया या अगर सीधे शब्दों में कहा जाए तो इंडियन एयरलाइंस का विलय एयर इंडिया में कर दिया गया एयर इंडिया भारत की ध्वजवाहक विमान सेवा है जिसका मुख्यालय मुंबई का छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है

हेलीकॉप्टर सेवा (Helicopter service)

सन 1985 में पवन हंस हेलीकॉप्टर लिमिटेड (Pawan Hans Helicopter Limited) अपने अस्तित्व में आई जिसकी स्थापना समुद्र में तेल की खोज करने के लिए और पहाड़ी क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर सेवा प्रदान करने के लिए की गई थी इसके बाद पवनहंस यातायात और परिवहन को और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भी कारगर हुई पवन हंस का मुख्यालय जुहू विमानक्षेत्र विले पार्ले मुंबई पश्चिम से नियंत्रित होता है इसके अलावा पवन हंस हेलीकॉप्टर जम्मू कश्मीर में एक बहुत बड़े तीर्थ स्थल वैष्णों देवी में भी अपनी सेवाएं प्रदान करते हैं

अन्‍य महत्‍वपूर्ण तथ्‍य 

  • एयर इंडिया को मुख्यालय नई दिल्ली में है, इसका निगमित कार्यालय मुम्बई है, इसके शुभंकर महाराजा है। इसका प्रतीक चिह्न उडते हुए हंस में नारंगी रंग का ’’कोणार्क चक्र’’ है।
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी फुर्सतगंज उत्तर प्रदेश में स्थित है 
  • देश का पहला निजी क्षेत्र का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोच्चि है 
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता में स्थित है 
  • राष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण की स्थापना 1986 में हुई थी 
  • अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण की स्थापना सन 1972 में हुई थी 
  • स्वतंत्रता के पश्चात प्रथम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा त्रिवेंद्रम है 
  • राजीव गांधी नेशनल फ्लाइंग इंस्टीट्यूट महाराष्ट्र में स्थित है
Tag - Transport in India, What are the Important Characteristics of Air Transport in India, Short essay on Air Transportation system, Airways In India, advantages and disadvantages of air transport in india


Next
This is the most recent post.
Previous
Older Post

Post a Comment