सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

प्लूटो (Pluto) या यम इस ग्रह को 2006 से पहले तक सौर मण्डल  में उपस्थित नवग्रह में स्थान प्राप्त था लेकिन अगस्त 2006 किए गए शोध तथा अन्तराष्ट्रीय खगोल विज्ञान की सबमिट में प्लूटो (Pluto) का ग्रह होने का दर्जा समाप्त कर दिया गया, आईये जानते हैं बौना ग्रह प्लूटो के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी और तथ्‍य - Important Information and Facts About Pluto (Dwarf Planet) in Hindi 

बौना ग्रह प्लूटो के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी और तथ्‍य -  Important Information and Facts About Pluto (Dwarf Planet) in Hindi

बौना ग्रह प्लूटो के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी और तथ्‍य -  Important Information and Facts About Pluto (Dwarf Planet) in Hindi 

  1. प्‍लूटो की खोज 1930 में अमेरिकी खगोलशास्त्री क्लाइड टॉमबौ ने की थी तथा इसे नौवें ग्रह का दर्जा दिया था 
  2. साथ ही यह सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह बन गया, इससे पहले बुध ग्रह को सबसे छोटे ग्रह का दर्जा प्राप्‍त था  
  3. लेकिन अगस्त 2006 किए गए शोध तथा अन्तराष्ट्रीय खगोल विज्ञान की सबमिट में प्लूटो (Pluto) का ग्रह होने का दर्जा समाप्त कर दिया गया
  4. यम या प्लूटो सौर मण्डल का दुसरा सबसे बड़ा बौना ग्रह है
  5. प्लूटो (Pluto) से बडा बौना ग्रह ऍरिस है
  6. प्लूटो (Pluto) को सौर मण्डल के बाहरी काइपर घेरे की सब से बड़ी खगोलीय वस्तु माना जाता है।
  7. प्लूटो (Pluto) का आकार पृथ्वी के चन्द्रमा से सिर्फ़ एक-तिहाई है।
  8. प्लूटो की त्रिज्या – 1150 कि0मी0 
  9. प्लूटो की सूर्य से दूरी – करीब 5 अरब कि0मी0 
  10. प्लूटो द्वारा सूर्य के एक चक्कर में लगने वाला समय – 247 वर्ष
  11. प्लूटो के पाँच ज्ञात उपग्रह हैं 

प्‍लूटो क्‍यों है बौना ग्रह 

अन्तराष्ट्रीय खगोल एजेन्सी ने लगातार प्लूटो की कक्षा पर नजर बनाये रखी तथा पाया की प्लूटो कि इसका द्रव्यमान व आकार चन्द्रमा से भी काफी कम है तथा सूर्य की परिक्रमा के साथ – साथ वरुण ग्रह की कक्षा को भी काटता है तथा परिक्रमा भी करता है जबकि ग्रह की संज्ञा केवल सूर्य के चक्कर लगाने वाले पिण्ड को ही दी जा सकती है तथा जो पिण्ड किसी ग्रह के चक्कर लगाता है तो उसे उपग्रह की संज्ञा दी जाती है लेकिन प्लूटो इस सभी परिभाषाओ का विरोध करता है तथा इसी आधार पर अगस्त 2006 को उसे बौने ग्रह की श्रेणी में रखा गया है तथा इसे नया नाम 134340 भी दिया गया है।



Post a Comment