सम्‍पूर्ण सामान्‍य ज्ञान (प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ) क्लिक करें

9 अगस्त 1942 को को महात्मा गांधी द्वारा अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के मुंबई अधिवेशन में भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत की गई थी इसलिए हर वर्ष 9 अगस्त को भारत छोड़ो आंदोलन दिवस के रुप में मनाया जाता है आइए जानते हैं भारत छोड़ो आंदोलन दिवस के संबंध में महत्वपूर्ण तथ्य - Important Facts About Quit India Movement Day

भारत छोड़ो आंदोलन दिवस - Quit India Movement Day

भारत छोड़ो आंदोलन दिवस के संबंध में महत्वपूर्ण तथ्य - Important Facts About Quit India Movement Day

भारत छोड़ो आंदोलन भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान विश्वविख्यात काकोरी कांड के ठीक 17 साल बाद यानी 9 अगस्त 1942 को पूरे देश में एक साथ प्रारंभ किया गया इसका उद्देश्य भारत को तुरंत आजाद कराने के लिए अंग्रेज शासन के विरुद्ध एक सभ्य आंदोलन था एक सविनय अवज्ञा आंदोलन था महात्मा गांधी जी ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत छोड़ो आंदोलन के रूप में तीसरा सबसे बड़ा आंदोलन छेड़ने का फैसला लिया था 

8 अगस्त 1942 को मुंबई में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की मीटिंग हुई जहां पर अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया गया अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा यूसुफ मेहर अली ने दिया था यह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेताओं में से एक थे इसके बाद महात्मा गांधी जी को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन पूरे देश में यह आंदोलन जारी रहा 

असल में पूरे देश में प्रतिवर्ष 9 अगस्‍त को काकोरी काण्ड की याद को ताजा रखने के लिये भगत सिंह ने 9 अगस्त को "काकोरी काण्ड स्मृति-दिवस" मनाने की परम्परा ने प्रारम्भ कर दी थी और इस दिन बहुत बड़ी संख्या में नौजवान एकत्र होते थे गांधी जी द्वारा 9 अगस्‍त का दिन इसलिये चुना गया था 

भारत छोड़ो आंदोलन सही मायने में एक जनांदोलन था जिसमें लाखों आम हिंदुस्तानी शामिल थे। इस आंदोलन ने युवाओं को बड़ी संख्या में अपनी ओर आकर्षित किया। उन्होंने अपने कॉलेज छोड़कर जेल का रास्ता अपनाया।


Post a Comment